भारत में बाल-विवाह समाप्ति पर संक्षेपण

अतुल ठाकोर समझाते हैं, "कम उम्र में शादी लड़कों और लड़कियों दोनों के लिए हानिकारक है| बनास कांठा के इस 17 वर्षीय लड़के का विवाह एक साल पहले इसकी हम उम्र लड़की से हुआ है।

चैंपियंस ऑफ एंड चाइल्ड मैरिज प्रोग्राम की मालिनी की तस्वीर।
UNICEF/UN0342660/Kolari

मुख्य आकर्षण

अतुल ठाकोर समझाते हैं, "कम उम्र में शादी लड़कों और लड़कियों दोनों के लिए हानिकारक है | बनासकांठा के इस 17 वर्षीय लड़के का विवाह एक साल पहले इसी की हम उम्र लड़की से हुआ है | माता-पिता द्वारा तय की गई इस शादी में वो शादी के पहले कभी भी अपनी पत्नी से बात नहीं किया था | भारत के कई अन्य राज्यों की तरह गुजरात में भी लड़कियों की तरह लड़कों का भी बचपन में ही विवाह हो जाता है |

 

लेखक
यूनिसेफ
प्रकाशन तिथि
भाषा
अंग्रेज़ी

रिपोर्ट डाउनलोड करें