जानकिया पंकालिथावुम पुनार्निर्मनावुम प्रयास (जे पी पी – I)

पीड़ित जनसँख्या के लिए जिम्मेदारी निर्धारण के लिए भारत का प्रारूप

जानकिया पंकालिथावुम पुनार्निर्मनावुम प्रयास (जे पी पी – I)
UNICEF India

मुख्य आकर्षण

जानकिया पंकालिथावुम पुनार्निर्मनावुम प्रयास (जे पी पी – I)

पीड़ित जनसँख्या के लिए जिम्मेदारी निर्धारण के लिए केरल की राज्य सरकार द्वारा जानकिया पंकालिथावुम पुनार्निर्मनावुम प्रयास (जे पी पी – I) का क्रियान्वयन, बाढ़ और लैंड स्लाइड्स से प्रभावित लोगों की सहभागिता और प्रतिक्रियाओं को शामिल करते हुए केरल को और अधिक आपदा रोधी बनाने की ओर एक प्रयास है | जे पी पी – I, स्थानीय स्वशासन विभाग (एल एस जी डी) के स्वयं सहायता समूह नेटवर्क कुदुम्बश्री के अंतर्गत संस्थागत रूप में स्थापित किया गया है और यूनिसेफ तथा अन्य विकास के भागीदारों के साथ क्रियान्वित किया गया | 

केरल राज्य रिपोर्ट: चक्र 1

जे पी पी – I का प्रथम चक्र का उद्देश्य, समुदाय में विभेद एवं लैंगिक मुद्दों पर विचार करते हुए, बाढ़ प्रभावित जिलों में प्रचलित मान्य व्यवहारों एवं सामान्य संसाधनों के व्यापक सेट के साथ, आपदा पीड़ित समुदाय से प्रतिक्रियाएं एवं आपदा पश्चात ज़रूरतों के विषय में जानकारियां प्राप्त करना है | प्रथम चक्र की रिपोर्ट, 7 सबसे अधक प्रभावित जिलों की 489 सर्वाधिक प्रभावित ग्राम पंचायतों / नगर निकायों के लगभग 20,000 लोगों को शामिल करते हुए, नौ प्रमुख क्षेत्रों (स्वास्थ्य, सफाई एवं स्वच्छता – वाश, पोषण, शिक्षा, बाल-सुरक्षा, आवास, खाद्य सुरक्षा और जीविका) में सेवा प्रदान करने के सम्बन्ध में परिणामात्मक जानकारियों को प्रस्तुत करती है |

केरल राज्य रिपोर्ट: चक्र 2

जे पी पी – I का द्वितीय चक्र की रचना आपदा प्रभावित समुदाय की गहरे से जानकारी प्राप्त करने के लिए मिश्रित-तरीकों से अध्ययन के लिए की गई थी, जिसमे सांस्कृतिक सन्दर्भों, सामाजिक वातावरण और आपदाओं के दौरान और आपदा पश्चात पुनर्स्थापन चरण के दौरान लोगों के निर्णयों और कार्यों को प्रभावित करने वाले व्यक्तिगत अनुभवों का विस्तृत ब्यौरा शामिल है | इसका सम्पूर्ण उद्देश्य नीतियों और कार्यक्रमों को बेहतर सूचित बनाने के लिए रिस्पांस और सहायता प्रक्रियाओं को गहराई से समझना था | चूँकि केरल आपदा के बाद अपने पुनर्निर्माण में लगा है और भविष्य की आपदाओं के शमन के प्रयासों को क्रियान्वित कर रहा है इसलिए विस्तृत संस्तुतियां दी जा रही हैं |

रिपोर्ट सारांश चक्र 2

सारांश रिपोर्ट, गुणात्मक आंकड़ा संग्रहण तकनीकों से निष्पादित, समुदाय की प्रतिक्रियाओं और प्रमुख संस्तुतियों के द्वितीय चक्र की जानकारियों का संक्षेपण प्रस्तुत करती है |

जानकिया पंकालिथावुम पुनार्निर्मनावुम प्रयास (जे पी पी – I)
लेखक
यूनिसेफ़ इंडिया
प्रकाशन तिथि
भाषा
अंग्रेज़ी

रिपोर्ट डाउनलोड करें

(PDF, 7,20 MB) (PDF, 2,53 MB) (PDF, 620,27 KB)